Monday, August 8, 2011

राहुल को प्रधानमंत्री देखना चाहते हैं...


हिन्दुस्तान का शहज़ादा 
फ़िरदौस ख़ान
कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी प्रधानमंत्री पद के लिए देशवासियों की पहली पसंद हैं. सीएनएन-आईबीएन और सीएनबीसी-टीवी 18 टीवी नेटवर्क  के सर्वे के मुताबिक़ ज़्यादातर लोगों की राय है कि राहुल गांधी को देश का अगला प्रधानमंत्री बनना चाहिए. देश के 20 राज्यों में किए गए इस सर्वे के मुताबिक़ कांग्रेस शासित राज्यों के 42 फ़ीसदी लोग चाहते हैं कि राहुल देश की कमान संभालें, जबकि 32 फ़ीसदी लोगों का मानना है कि जल्द ही मनमोहन सिंह की जगह ले लेनी चाहिए. कुल 39 हज़ार लोगों में से महज़ 22 फ़ीसदी लोगों का मानना है कि मनमोहन सिंह को प्रधानमंत्री पद पर बने रहना चाहिए. वहीं 54 फ़ीसदी लोगों का कहना है कि राहुल ग़रीबों के हितैषी और भरोसेमंद नेता हैं. उनके सामने कांग्रेस पार्टी का कोई नेता नहीं टिक पाया.

जब भ्रष्टाचार और महंगाई के मामले में कांग्रेस के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार का चौतरफ़ा विरोध हो रहा है, ऐसे वक़्त  में राहुल ने गांव-गांव जाकर जनमानस से एक भावनात्मक रिश्ता क़ायम किया. राहुल ने लोगों से मिलने का कोई मौक़ा नहीं छो़ड़ा. बीती पांच जुलाई को वह भट्टा पारसौल गांव गए. उन्होंने आसपास के गांवों का भी दौरा कर ग्रामीणों से बात की, उनकी समस्याएं सुनीं और उनके समाधान का आश्वासन भी दिया. इससे पहले भी 11 मई की सुबह वह मोटरसाइकिल से भट्टा-पारसौल गांव जा चुके हैं. उस वक़्त मायावती ने उन्हें गिरफ्तार करा दिया था. इस बार भी वह गुपचुप तरीक़े से ही गांव गए. न तो प्रशासन को इसकी ख़बर थी और न ही मीडिया को इसकी भनक लगने दी गई. हालांकि उनके दौरे के बाद प्रशासन सक्रिय हो गया. बीती 29 जून को वह लखीमपुर में पीड़ित  परिवार के घर गए और उन्हें इंसाफ़ दिलाने का वादा किया.

भूमि अधिग्रहण के मुद्दे पर कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी द्वारा निकाली गई पदयात्रा से सियासी हलक़ों में चाहे जो प्रतिक्रिया हुई हो, लेकिन यह हक़ीक़त है कि राहुल ने ग्रामीणों के साथ जो वक़्त बिताया, उसे वे कभी नहीं भूल पाएंगे. इन लोगों के लिए यह किसी सौग़ात से कम नहीं था कि उन्हें युवराज के साथ वक़्त गुज़ारने का मौक़ा मिला. अपनी पदयात्रा के दौरान पसीने से बेहाल राहुल ने शाम होते ही गांव बांगर के किसान विजय पाल की खुली छत पर स्नान किया. फिर थोड़ी देर आराम करने के बाद उन्होंने घर पर बनी रोटी, दाल और सब्ज़ी खाई. ग्रामीणों ने उन्हें पूड़ी-सब्ज़ी की पेशकश की, लेकिन उन्होंने विनम्रता से मना कर दिया. गांव में बिजली की क़िल्लत रहती है, इसलिए ग्रामीणों ने जेनरेटर का इंतज़ाम किया था, लेकिन राहुल ने पंखा भी बंद करवा दिया. वह एक आम आदमी की तरह ही बांस और बांदों की चारपाई पर सोए. यह कोई पहला मौक़ा नहीं था, जब राहुल गांधी इस तरह एक आम आदमी की ज़िंदगी गुज़ार रहे थे. इससे पहले भी वह रोड शो कर चुके हैं और उन्हें इस तरह के माहौल में रहने की आदत है. कभी वह किसी दलित के घर भोजन करते हैं तो कभी किसी मज़दूर से साथ ख़ुद ही परात उठाकर मिट्टी ढोने लगते हैं. राहुल का आम लोगों से मिलने-जुलने का यह जज़्बा उन्हें लोकप्रिय बना रहा है. राहुल जहां भी जाते हैं, उन्हें देखने के लिए, उनसे मिलने के लिए लोगों का हुजूम इकट्ठा हो जाता है.

फ़िलहाल राहुल अपनी मां सोनिया के साथ विदेश में हैं. पिछले दिनों ही उनकी सर्जरी हुई है. उनके जल्द ठीक होने की दुआ करते हैं. उम्मीद है कि हिन्दुस्तान का शहज़ादा जल्द ही वापस आएगा.  माना जा रहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की ग़ैर मौजूदगी में राहुल को तिरंगा फहराने का अधिकार सौंपा जा सकता है. अगर ऎसा होता है, तो यह पहला मौक़ा होगा जब राहुल कांग्रेस के 24 अकबर रोड स्थित मुख्यालय पर तिरंगा फहराएंगे...

अन्य
राहुल की मेहनत रंग लाएगी... 

40 Comments:

nilesh mathur said...

सच, राहुल जैसे युवा वर्ग की देश को जरूरत है।

मौसम said...

प्रिय फ़िरदौस
हम भी चाहते हैं की हिन्दुस्तान का शहज़ादा ही अगला प्रधानमंत्री बने. एक अरसे बाद ब्लॉग पर आपकी तहरीर पढ़ने को मिली. बस आप यूं ही लिखती रहें. आपकी अगली पोस्ट का बेसब्री से इंतजार रहेगा.

mahendra srivastava said...

जी सर्वे तो जो है, ठीक है।
जनता के इस सर्वै में योग्यता के बजाए भावनाएं दिखाई दे रही हैं।

फ़िरदौस ख़ान said...

महेंद्र जी
भावनाएं तो उसी के लिए होंगी न जो इस क़ाबिल हो...
आपके कमेंट से भी यह बात साबित होती है कि भावनात्मक तौर पर लोग राहुल के साथ हैं...
यही जज़्बात तो हिन्दुस्तान के शहज़ादे पर निसार हैं...

Abhishek said...

राम जाने ये सर्वे आसमान से सीधे इन टीवी वालो के पास आते है या इनकी कोई प्रमाणिकता भी है. या केवल देश के लोगो को आँखों में धुल झोंकने के लिए मीडिया वाले बेकार में कांग्रेस के युवराज की चमचागिरी में लगे रहते है.

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

kamaal hai...

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

kamaal hai!

मौसम said...

@फ़िरदौस ख़ान said...
भावनाएं तो उसी के लिए होंगी न जो इस क़ाबिल हो...
आपके कमेंट से भी यह बात साबित होती है कि भावनात्मक तौर पर लोग राहुल के साथ हैं...
यही जज़्बात तो हिन्दुस्तान के शहज़ादे पर निसार हैं...


फ़िरदौस!
अपने सही कहा है कि जो इस क़ाबिल होता है, उसी से जज़्बात जुड़े होंगे.
वाक़ई राहुल इस काबिल हैं. हम ख़ुद उसे बहुत पसंद करते हैं.

रचना दीक्षित said...

सच तो यही है.

कांग्रेस में आज जो भी नेता दिख रहे उनमे से कोई भी इस स्तर का नहीं लग रहा. कमोवेश यही हाल विपक्ष का है.

अगर कहीं उम्मीद की किरण दिखती है तो वो राहुल में. फिर अब नए सोच की भी जरूरत इस देश को है. जो जरा अलग सोच रखता हो और जो जनता से भी जुड़े रहने की इच्छाशक्ति रखता हो, ऐसा प्रधानमन्त्री शायद कुछ तब्दीली ला सके और प्रगति के रास्ते तेजी से ले जा सके.

जीत भार्गव said...

फिरदौस जी,
अव्वल बात तो सर्वे कराने वाले चैनल के करता-धरता राघव बहल खुद कोंग्रेस के बहुत करीब हैं. यह चैनल कोंग्रेस के पक्ष में एकतरफा रिपोर्टिंग करके अपनी विश्वसनीयता पहले ही खो चुका है. सांसद टेप काण्ड में इसके एडिटर राजदीप सरदेसाई की हरकत भी हम सबने देखी है. ऐसे में इस सर्वे को सच मानना नादानी ही होगी.
दूसरी बात आज भारत में राहुल से भी ज्यादा काबिल और देशहित में नेतृत्व देने वाले युवा मौजूद हैं. लेकिन सोनियाभक्त मीडिया को सिर्फ राहुल ही दिखता है. देश के कई ज्वलंत मुद्दों के बारे में राहुल बगले झांकते हैं या बिल में जाकर छिप जाते हैं. उनकी शिक्षा सहित कई विवादास्पद मामले आज भी 'रहस्यमय' हैं.
किसी गधे पर सौ बार रंग चढाओ तो वह घोड़ा दिख तो सकता है, लेकिन असल में होता नहीं है. राहुल आज जो भी हैं वह सिर्फ अपने नाम और मीडिया के महिमा मंडन की वजह से हैं.
आपको पता होगा कि, अरविंद केजरीवाल IIT से निकलकर अपनी प्रतिभा के बल पर इनकम टेक्स कमिश्नर बने . लेकिन देशहित में अपना सर्वस्व त्याग कर लड़ रहे हैं. इस युवा के पास दो जोड़ी पतलून-कमीज हैं. प्रतिभा है, बुद्धि है, और ईमान भी. और देश के लिए एक विजन भी. सही मायनों में देश का साली यूथ आइकन अरविन्द केजरीवाल हैं. ना कि भोंदू युवराज.

Ojaswi Kaushal said...

Hi I really liked your blog.

I own a website. Which is a global platform for all the artists, whether they are poets, writers, or painters etc.
We publish the best Content, under the writers name.
I really liked the quality of your content. and we would love to publish your content as well. All of your content would be published under your name, so that you can get all the credit for the content. This is totally free of cost, and all the copy rights will remain with you. For better understanding,
You can Check the Hindi Corner, literature, food street and editorial section of our website and the content shared by different writers and poets. Kindly Reply if you are intersted in it.

http://www.catchmypost.com

and kindly reply on mypost@catchmypost.com

सूर्य गोयल said...

फिरदौस जी मै यह तो नहीं कहूँगा की सिर्फ राहुल गांधी को प्रधानमन्त्री देखना चाहता हूँ. क्योंकि आपकी इस पोस्ट पर जितने भी कोमेंट आये है वो सिर्फ राहुल के लिए नहीं है साथ ही साथ एक युवा के लिए भी है. रही बात राहुल की तो उनकी योग्यता के लिए आप मेरी यह पोस्ट जरुर पढ़ें.
http://gooftgu.blogspot.com/2011/05/blog-post_25.html

आशीष कुमार शाक्य said...

मैं आपकी भावनाओं का पूरी क़द्र करता हूँ परन्तु मैं आपके इस लेख से सहमत नहीं हूँ और अपने कुछ तथ्य आपके सामने रखना चाहता हूँ..



राहुल गाँधी...
A Person who always Blame Gujarat, Bihar and other state which are not ruled be Congress...he(Rahul Gandhi) say states are not developed, No Electricity what about his Amethi which is ruled by Congress for Long time . ... ??? See Below . .
For Amethi Detail..

Rahul Gandhi, (so called and proclaimed by many 'fan' future PM of our India )-
something on the status of his pet constituency- Amethi, which incidentally has seen FIVE generations of Nehru Dynasty MPs.

Some developmental indicators:

(1) Amethi has 39.5% literacy level (national average being around 65%),
(2) Around 50% population is below poverty line
(3) Only 15% population has access to electricity
(4) Vaccination level is below 16%
(5) Around 16% of children die below age of 5 years
(6) Amethi received Rs.3.06 crore as developmental fund (or MPLAD) from Govt. of India in 2009-10 of which Rahul Gandhi used merely 5.89% (0.18 crore).

Second, let us see his record as a champion youth icon Member of Parliament:

(1) The national MP attendance average in the parliament is 77%. Rahul Gandhi's attendance is 47%.
(2) National average for questions asked by MPs in parliament is 119. Rahul Gandhi asked ZERO questions.
(3) The national average for Debates attended by MPs is 15.6. Rahul Gandhi attended ZERO debates.

His ideology and his views ....
(1) For him Terror attacks are common thing...we should not be worried of that.....let it happen(since they have z class security)
(2) He will never talk about Govt. policies....and planning....since heis not intelligent enough to grasp that.(claimed to be most eligible to be PM)
(3) Won't talk about black money and corruption.

His achievements...
(1) Grandson OF Nehru,
(2) Grandson of Indira Gandhi,
(3) Son Of Rajiv Gandhi,
(4) From Nehru-Gandhi Family.

His education, job and awards.....

* Failed to secure passing grades in National Economic Planning and Policy, graduated by any how
* Got ancestral political power and running through it
* He is making awards not getting it



Till now a BIG ZERO...!!
Claimed to be next PM of INDIA !!

आशीष कुमार शाक्य said...

मैं आपकी भावनाओं का पूरी क़द्र करता हूँ परन्तु मैं आपके इस लेख से सहमत नहीं हूँ और अपने कुछ तथ्य आपके सामने रखना चाहता हूँ..



राहुल गाँधी...
A Person who always Blame Gujarat, Bihar and other state which are not ruled be Congress...he(Rahul Gandhi) say states are not developed, No Electricity what about his Amethi which is ruled by Congress for Long time . ... ??? See Below . .
For Amethi Detail..

Rahul Gandhi, (so called and proclaimed by many 'fan' future PM of our India )-
something on the status of his pet constituency- Amethi, which incidentally has seen FIVE generations of Nehru Dynasty MPs.

Some developmental indicators:

(1) Amethi has 39.5% literacy level (national average being around 65%),
(2) Around 50% population is below poverty line
(3) Only 15% population has access to electricity
(4) Vaccination level is below 16%
(5) Around 16% of children die below age of 5 years
(6) Amethi received Rs.3.06 crore as developmental fund (or MPLAD) from Govt. of India in 2009-10 of which Rahul Gandhi used merely 5.89% (0.18 crore).

Second, let us see his record as a champion youth icon Member of Parliament:

(1) The national MP attendance average in the parliament is 77%. Rahul Gandhi's attendance is 47%.
(2) National average for questions asked by MPs in parliament is 119. Rahul Gandhi asked ZERO questions.
(3) The national average for Debates attended by MPs is 15.6. Rahul Gandhi attended ZERO debates.

His ideology and his views ....
(1) For him Terror attacks are common thing...we should not be worried of that.....let it happen(since they have z class security)
(2) He will never talk about Govt. policies....and planning....since heis not intelligent enough to grasp that.(claimed to be most eligible to be PM)
(3) Won't talk about black money and corruption.

His achievements...
(1) Grandson OF Nehru,
(2) Grandson of Indira Gandhi,
(3) Son Of Rajiv Gandhi,
(4) From Nehru-Gandhi Family.

His education, job and awards.....

* Failed to secure passing grades in National Economic Planning and Policy, graduated by any how
* Got ancestral political power and running through it
* He is making awards not getting it



Till now a BIG ZERO...!!
Claimed to be next PM of INDIA !!

फ़िरदौस ख़ान said...

@आशीष कुमार शाक्य said...

आशीष जी, इस मुल्क में तो लोग उनका भी समर्थन करते हैं, जो सामूहिक नरसंहार कराते हैं...
उनके बारे में आपका क्या ख़्याल है...?

Abhishek said...

@फ़िरदौस ख़ान,

दिल को बहलाने के लिए ग़ालिब ख्याल अच्छा है. :)

Abhishek said...

अभी अभी एक न्यूज़ पढ़ी तो आपके एस ब्लॉग की याद आ गयी नीचे लिंक दी है जरुर पढियेगा अपने वजीरे आजम के बारे में. :P
http://navbharattimes.indiatimes.com/articleshow/9860961.cms

फ़िरदौस ख़ान said...

@आशीष कुमार शाक्य said...

एक और सबसे बड़ा सच है...राहुल हिन्दुस्तान का शहज़ादा है...और एक रोज़ उन्हें इस मुल्क का वज़ीरे-आज़म बनना है...

फ़िरदौस ख़ान said...

@Abhishek said...

हम तो 'अपने' वज़ीरे-आज़म के बारे में पढ़ते ही रहते हैं...

Abhishek said...

@फ़िरदौस ख़ान,
करम है आपका आप इसी तरह पढ़ती रहे यही दुया है भगवान् से. वैसे एक और लिंक नीचे है इसको भी पढ़िए और अपने वजीरे-आजम के बारे में फिर से सोचिये. कही आपका सोचना गलत तो नहीं है की लोग उनसे जुड़ रहे है. क्यूंकि एस टाइम तो हर कोई उनके और उनकी पार्टी के खिलाफ ही बोल रहा है. :P
http://navbharattimes.indiatimes.com/articleshow/9897057.cms

फ़िरदौस ख़ान said...

@Abhishek

शुक्रिया...
हमें 'हमारे' वज़ीरे-आज़म से संबंधित लिंक देने के लिए... वैसे हमें 'अपने' वज़ीरे-आज़म के बारे में जानने के लिए किसी लिंक या अख़बार की ज़रूरत नहीं है...बहरहाल, फिर भी आपका शुक्रिया...

हरकीरत ' हीर' said...

जी फिरदौस जी हमारी भी यही राय है राहुल जी को अब बागडोर संभाल लेनी चाहिए ....

फ़िरदौस ख़ान said...

शुक्रिया... हरकीरत जी
हमारी यानी राहुल की हिमायत करने के लिए...

Unlucky said...

मेरे ख्याल से अन्ना आन्दोलन के बाद ये मुमकिन हो ऐसा तो लगता नहीं, मै हमेशा से ये इस दुविधा में हूँ की जिस घराने ने हमारे देश को अपना बलिदान दिया, यहाँ तक की राजीव गाँधी , राहुल गाँधी के पिता ने भी देश के लिए अपनी जान दे दी, आज उसी देश की सबसे बड़ी राजनैतिक पार्टी सबसे भ्रष्ट पार्टी हो चुकी है, और एक विनंती है फ़िरदौस ख़ान जी राहुल को हिन्दुस्तान का शहज़ादा कहना बंद करे, यही वो राहुल गाँधी है जो उ. प्रदेश में किसानो पर अत्त्याचार होता है तो किसानो का मसीहा बन कर वह का दौरा करता है, क्यूंकि यहाँ b . s . p . की सरकार है, और जब पुणे में किसानो पर गोलिया चलती है, बेकसूर किसान मरते है तो ये वही राहुल गाँधी जो किसानो का मसीहा है चुप्पी साध लेता है, क्यूंकि यहाँ कांग्रेस की सरकार है,

These Pictures are worth thousands of words हकीकत जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे हिन्दुस्तान

सतीश सक्सेना said...

जवानों से देश को अधिक उम्मीद होनी चाहिए ...नया खून आगे आना आवश्यक है !
शुभकामनायें !

Abhishek said...

Rahul Gandhi, Telangana Agitation and Gopalgarh
"रॉल विन्ची" के लिए तेलंगाना से अधिक महत्वपूर्ण है गोपालगढ़…

http://blog.sureshchiplunkar.com/2011/10/rahul-gandhi-telangana-agitation-and.html


lolz

अमित शर्मा said...

पञ्च दिवसीय दीपोत्सव पर आप को हार्दिक शुभकामनाएं ! ईश्वर आपको और आपके कुटुंब को संपन्न व स्वस्थ रखें !
***************************************************

"आइये प्रदुषण मुक्त दिवाली मनाएं, पटाखे ना चलायें"

प्रेम सरोवर said...

आपका पोस्ट अच्छा लगा । मेर नए पोस्ट ' अपनी पीढी को शब्द देना मामूली बात नही" है पर आपका बेसब्री से इंतजार रहेगा । धन्यवाद ।

जाट देवता (संदीप पवाँर) said...

जीत भार्गव, आशीष कुमार शाक्य, Unlucky, के सच कहने/बताने के बाद तो इस लेख के मायने ही बदल गये है। "रॉल विन्ची" उर्फ़ राहुल गाँधी उर्फ़ शहजादा( ये शहजादा शब्द तो तानाशाही/राजशाही में प्रयोग होता है) भारत जैसे प्रजातन्त्र में तो सिर्फ़ एक आम नेता या किसी पार्टी का पहले स्थान का नेता या दूसरे स्थान का नेता कहना ही उचित है। रही बात प्रधानमन्त्री बनने की, हम भी चाहते है कि बने तो सही कम से कम जनता का ये भ्रम भी टूट जाये ति इनके आने से इस देश का कुछ भला होगा जो शायद नहीं होने वाला। लेख लिखने में आपने अच्छी मेहनत की उसके लिये आपके आपके शुक्र गुजार है कम से कम इस लेख के बहाने कुछ सच्चाई का पता चला कि आखिर मामला क्या है उन सबके लिये धन्यवाद जिन्होंने सच सामने लाने में कोशिश की है। आपकी लेख अगर अनुसार इन्होंने इस देश का कुछ भला कर दिया तो कम से कम आने वाले तीस साल तो देश इनके राज में शांत रह सकेगा?

neel pardeep said...

आप को यहाँ देख कर अच्छा लगा रहा है, फिरदौस
मैं हिसार से प्रदीप नील
कभी मिले नहीं लेकिन मैं आपको अख़बार आपकी रचनाओं के माध्यम से जानता हूँ ( और शायद आप भी मुझे )
फिर मिलते हैं
प्रदीप www.neel-pardeep.blogspot.com

VIJAY PRAKASH GURJAR said...

RAHUL GANDHI HI P.M. BANEGA TO HI YAH BHARTCHAR KATM HOGA DESH HAR BACHA BACHA P.M. DEKHNA CHAHTA HE
VIJAY PRAKASH GURJAR
MOGANA PO. THAMLA TAH. NATHDWARA DISS. RAJSAMAND RAJASTHAN

VIJAY PRAKASH GURJAR said...

RIGHT TO EMPLOMENT, RIGHT TO EDUCTION, RIGHT TO FOOD, RIGHT TO HOUSE, RIGHT TO MEDICASIONS YE CHAHYE TO HI DESH KA P.M. RAHUL GANDHI BANNA CHAHYE OR BANANE KE BAD HI DESH SUDHAR HOGA BJP V ANY DAL DESH SUDHAR NAHI KAR SAKATI HE.
VIJAY PRAKASH GURJAR
MO.NU. 09413561901

Abhishek said...

RIGHT TO EMPLOMENT, RIGHT TO EDUCTION, RIGHT TO FOOD, RIGHT TO HOUSE, RIGHT TO MEDICASIONS इतना तो राहुल के पर नाना नेहरू, दादी इंदिरा और बाप राजीव भी नहीं दे पाया जिनको देश सा सबसे बड़ा बलिदानी साबित करने में लगी रहती है कांग्रेस. लगभग 60 साल देश में साशन करने के बाद भी तो देश का कोई सुधर ना कांग्रेस कर पायी और ना ही गाँधी परिवार के सुरमा कर पाए. इतना सब होने के बाद भी क्यूँ उनको दुबारा मौका दिया जाना चाहिए इसका कोई तार्किक उत्तर दे सकते हो तो दीजिये. और यदि केवल नारे बाजी और कांग्रेस और गाँधी परिवार की चमचागिरी करनी है तो फिर ऐसे उत्तर की जरुरत मुझे नहीं है.

VIJAY PRAKASH GURJAR said...

KYO KI RAHUL GANDHI HI DESH KA BHARSHTACHAR KO KATM KAR SAKTA HE. OR YAVA HE RAHUL DESH KO EK BAR CHAMKANA CHAHYTA HE DESH KOI BHI YUVA ANEMPLOYMENT NAHI HO DESH KI RAJNITEE SAHI CHAL SAKE. ISLIYE DESH KA P.M. RAHUL GANDHI KO DEKNA CHAHYTE HE. RAHU

Abhishek said...

आपने जो उत्तर दिया कुछ ख़ास समझ नहीं आया. आप वही सब बोल रहे है जो एक नेता बोलता है कि वो देश को चमकाना चाहता है, भ्रष्टाचार मिटाना चाहता .है और भ्रष्टाचार के खिलाफ तो बाबा रामदेव ने राहुल से जादा बोला था और वो भी युवा है क्यूंकि आपकी नजरो में 42 साल का बुड्ढा युवा होता है. फिर रामदेव को प्रधानमंत्री क्यूँ नहीं बनाना चाहिए आखिर राहुल और रामदेव दोनों की उम्र 41-42 साल के आस-पास ही है. और अगर प्रधानमंत्री केवल गाँधी परिवार से ही हो सकता है तो वरुण गाँधी तो केवल 31 साल का है राहुल से कही जादा युवा उसको प्रधानमंत्री क्यूँ नहीं बनाना चाहिए ?? 60 सालो से भी गाँधी परिवार और कांग्रेसी देश को चमकाने की ही बात कर रहे है और भ्रष्टाचार को मिटने की बात कर रहे है किन्तु देश आज भी नहीं चमका पाए और भ्रष्टाचार कम होने की बजाये बढ़ता ही जा रहा है फिर भी देश का PM इसको क्यूँ बनाना चाहिए सवाल अब भी वही खड़ा है जिसका कोई तार्किक उत्तर आप कभी नहीं दे सकते है. जैसा की अक्सर कांग्रेसी केवल गाँधी परिवार की चमचागिरी करते है बिना किसी प्रूफ के वही ही आप करने की कोसिस कर रहे है. अगर राहुल गाँधी इतना ही अच्छा है तो ऊपर ""आशीष कुमार शाक्य"" जी ने कुछ बाते प्रूफ के साथ लिखी है जो इन्सान 7-8 साल अमेठी का MP रहने के बाद वहा का कोई विकास नहीं कर सका वो PM बनाने के बाद तो देश का कबाड़ा ही कर देगा फिर भी ऐसे आदमी का आप लोग अंध समर्थन कर रहे है. बाकी राहुल के उपलब्धियों के बारे में आप नीचे कि लिंक में भी पढ़ सकते है.
http://www.upkhabar.in/2011/05/blog-post_7416.html

VIJAY PRAKASH GURJAR said...

RAHUL GANDHI P.M. BANATE HI DESH KE YUVA BEROJGARI KATM HO JAYEGI
DESH KO P.M. CHAHYE TO RAHUL GANDHI CHAHY

VIJAY PRAKASH GURJAR said...

RAHUL GANDHI HI DESH KA P.M. BANTE HI BEROJGARI NKATM HOGI OR DESH KO P.M. RAHUL GANDHI HI CHAHYE
RAHUL GANDHI ZINDABAD

VIJAY PRAKASH GURJAR said...

MENE GOD SHREE NATHJI PRATHNA KI HE JIS DIN RAHUL GANDHI DESH KA P.M. BANEGA US DIN ME MERE GAV SE GOD SHREENATHJI KE PEDAL YATRA JAHUNGA OR DARSHAN KARUNGA YEARS 2013 BEFORE HI DESH KA P.M. RAHUL GANDHI HI BANEGA
VIJAY PRAKASH GURJAR
VI. MOGANA PO.THAMLA TEH. NATHDWARA DISS. RAJSAMAND {RAJASTHAN}313204

VIJAY PRAKASH GURJAR said...

DESH KA P.M. RAHUL GANDHI OR RAJASTHAN KA C.M. DR. C.P. JOSHI HI BNEGA TAB JAKE DESH ME SUDHAR HOGA

Ashfak Husain said...

RAHUL GANDHI IS NEXT PRIMINISTER

Post a Comment